Bihar Board 12th Physics Chapter 2 Objective Question Answer. Students of 12th Science (Physics) can check chapter wise important objective question with answer of Physics chapter 2 Electric Field.

S.noUnit Name
1Electro Statics
2Current Electricity
3Magnetic Effect of electric current and magnetism
4Electromagnetic Induction and Alternating Current
5Electro magnetic wave
6Optics
7Dual nature of matter and radiation
8Atoms and nuclei
9Electronic device
10Communication system
Unit NameChapter 1Chapter 2Chapter 3Chapter 4Chapter 5
Electro StaticsElectric ChargeElectric FieldElectric PotentialGauss’s LawCapacitance

Also Read :- Bihar Board 12th Physics Chapter 1 VVI Objective Question And Answer With Details Solution.

Bihar Board 12th Physics Chapter 2 Objective Question Answer

Electric Field Intensity (विधुत क्षेत्र की तीव्रता)

  • इसे E से सूचित किया जाता है।
  • E = F/q
  • विधुत क्षेत्र की तीव्रता एक Vector Quantity है, इसकी दिशा बल के दिशा में होती है।
  • विधुत क्षेत्र की तीव्रता का SI मात्रक N /C या V /m होता है।
  • इसका बीमा सूत्र [MLT-3A-1] होता है।
  • F = q e
  • q negative हो तो, बल की दिशा विधुत क्षेत्र के विपरीत दिशा में होती है।
  • यदि q positive हो तो, बल की दिशा विधुत क्षेत्र के दिशा में होती है।
  • बिंदु आवेश के कारण विधुत क्षेत्र की तीव्रता :- E = 1/4πε0 . q/r2
  • यदि परिक्षण आवेश ε0 को दो से गुना कर दी जाए ,तो उनके बिच लगने वाला बल भी दो गुना हो जायेगा।
  • द्विध्रुब की लम्बाई 2l एक सदिश राशि है, जिसकी दिशा -q से +q की ओर होता है।

Electric Dipole Moment (विधुत द्विध्रुब आघूर्ण )

  • vector p = q × 2l
  • विधुत द्विध्रुब आघूर्ण एक सदिश राशि है।
  • इसकी दिशा -q से +q की ओर होता है।
  • इसका मात्रक Cm (Coulomb metre ) होता है।
  • इसका बीमा सूत्र [LAT] होता है।

Important Facts :- 1.आदर्श या बिन्दु द्विध्रुब (Ideal or Point Dipole) में q ->∞ & 2l -> 0 .

द्विध्रुब पर कुल आवेश (-q, +q ) शून्य होता है।

विधुत द्विध्रुब के अक्षीय स्थिति में विधुत क्षेत्र की तीव्रता का परिणाम E = 1/4πε0 . 2p/r3. और दिशा -q से +q की ओर।

विधुत द्विध्रुब के निरक्षीय स्थिति में विधुत क्षेत्र की तीव्रता का परिणाम E = 1/4πε0 . p/r3. और दिशा +q से -q की ओर।

विधुत द्विध्रुब के किसी भी स्थिति में विधुत क्षेत्र की तीव्रता का परिणाम E = 1/4πε0 . p/r3.√3cos2Θ +1. और दिशा alpha= tan-1(1/2tanΘ).

  • E axial/E equterial = 2/1
  • E axial : E equterial = 2:1
  • E axial = 2 E equtrial
  • समरूप विधुत क्षेत्र में रखे विधुत द्विध्रुब पर लगने वाला बल आघूर्ण :- T =PESinΘ
  • जब Θ=0, तब T =0. इस स्थिति में बल आघूर्ण शून्य होता है, तथा द्विध्रुब को स्थाई साम्य अवस्था में कहा जाता है।
  • जब Θ=90, तब T = PE, इस स्थिति में बल आघूर्ण अधिकतम होता है।
  • जब विधुत द्विध्रुब को समरूप विधुत क्षेत्र में रखा जाता है, तो विधुत द्विध्रुब पर लगने वाला परिणामी बल शून्य होता है। उस पर केवल बल आघूर्ण कार्य करता है।
  • जब विधुत द्विध्रुब को असमरूप विधुत क्षेत्र में रखा जाता है, तो बल आघूर्ण के साथ-साथ परिणामी बल भी कार्य करता है।

All the best for students Bihar Board 12th Physics Chapter 2 Objective Question Answer…!!!

Official Website of Bihar Board :- http://seniorsecondary.biharboardonline.com/.

Babul Kumar is fountainhead of Vats Academy. He loves writing about Board and University students.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.