बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा 2019 फ़रवरी महीना में होगा। मैट्रिक की परीक्षा 2019 में दो पालियों में कराया जायेगा।

दोनों पालियो में  उत्तर  पुस्तिका का रंग अलग -अलग होगा। क्योकि दोनों पालियो में अलग -अलग विद्यार्थी होते है। इसलिये बिहार बोर्ड ने यह निर्णय लिया हैं।

दोनों पालियों में अलग- अलग रंग  के उत्तर पुस्तिका उपयोग करने का निर्णय  बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने  7 सितम्बर 2018 के बोर्ड सभागार के बैठक में लिया गया।

बैठक में  उक्त  निर्णय लिये जाने के साथ -साथ उन्होंने मैट्रिक परीक्षा 2019 के बारे में कई अन्य दिशा -निर्देश दिये।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सभागार बैठक में  विभिन्न  जिलों के उपर समाहर्ता -सह -चीफ  सक्रेसी ऑफिसर ,उप समाहर्ता -सह -डिप्टी चीफ सेक्रेसी ऑफिसर ,विभिन्न केन्द्रो के केन्द्राधियक्ष व मूल्यांकन निदेशक ,बोर्ड के सचिव अनूप कुमार सिन्हा ,संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक (उमा )योगेश मिश्रा परीक्षा नियंत्रक (मा) सलाहुद्दीन खां व अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

बिहार मैट्रिक परीक्षा 2019 की ओ एम आर (OMR ) पर अवार्ड शीट का रंग बदलेगा

बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में विद्यार्थी को ऑब्जेक्टिव प्रश्न की उत्तर OMR sheet पर देना  होता है। मैट्रिक की परीक्षा में ओ एम आर (OMR)  शीट में दाँया व बाँया हिस्सा विद्यार्थी द्वारा भरा जाता हैं।

बीच में जो हिस्सा होता हैं वो हिस्सा आवार्ड शीट होता हैं। जिसे मुल्यांकन के बाद परीक्षकों के द्वारा भरा जाता हैं।

बिहार बोर्ड  मैट्रिक परीक्षा 2019 की  ओ एम आर (OMR) शीट के बीच के हिस्से को अन्य दोनों भागों से अलग करने के  लिये उसका रंग अन्य  हिस्सों की तुलना में किसी अन्य रंग करने का अध्यक्ष  आनंद किशोर ने निर्देश दिया। जिससे विद्यार्थी उस हिस्से पर  लिखे।

प्रत्येक OMR sheet  पर क्या और कहाँ लिखना हैं  उसका  निर्देश भी OMR sheet पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा जायेगा।

उन्होंने कहा की उस हिस्से को विद्यार्थीयो  द्वारा नहीं भरने से सम्बंधित निर्देश भी बड़े अक्षर में  प्रिंट किया  जाये। ताकि विद्यार्थी उस हिस्से का उपयोग न करे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.